Gujarat Poshan Sudha Yojana | गुजरात पोषण सुधा योजना 2022

Gujarat Poshan Sudha Yojana 2022 | Poshan Sudha Yojana Registration | पोषण सुधा योजना 2022 क्या है | पोषण सुधा योजना 2022 आवेदन प्रक्रिया तथा लाभ इन हिंदी | Poshan Sudha Yojana in Hindi | Poshan Sudha Yojana Application

नमस्कार दोस्तों आज हम पोषण सुधा योजना 2022 (Poshan Sudha Yojana) के बारे में आपको जानकारी दे रहे हैं आशा करता हूं आपको यह जानकारी अच्छी लगेगी अगर आपको अच्छी लगती है तो अपने दोस्तों तथा जानकारों के साथ इस जानकारी को साझा करें ताकि उनको भी इस योजना का लाभ प्राप्त हो सके।

पोषण सुधा योजना की शुरुआत 18 जून 2022 को हमारे प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी द्वारा गुजरात राज्य में की गई। आपकी जानकारी के लिए हम बता दें 18 जून को हमारे प्रिय प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी की माता श्री का जन्मदिन है और इसी उपलक्ष में वह गुजरात उनसे मिलने आए थे और उन्होंने महिलाओं को सम्मान तथा मातृ शक्ति प्रदान करने के लिए विभिन्न योजनाओं का शुभारंभ किया उनमें से पोषण सुधा योजना भी एक है।

आदिवासी इलाकों में गर्भवती महिलाओं को शुद्ध पोषण युक्त आहार तथा कैल्शियम और आयरन की गोलियां प्रदान करने का लक्ष्य इस योजना में रखा गया है। अभी इस योजना को पायलट मोड पर शुरू किया गया है तथा बाद में इसे बाकी बची हुई आदिवासी इलाकों में लागू किया जाएगा इस योजना को ट्रैक करने के लिए एप्लीकेशन भी राज्य सरकार द्वारा जारी किया गया है जिससे यह सुनिश्चित किया जाएगा कि योजना का लाभ सही मिलना पा रहा है या नहीं।

Key Highlights of Poshan Sudha Yojana

योजना का नामपोषण सुधा योजना
प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी द्वारा
राज्यगुजरात
उद्देश्यआदिवासी इलाकों में गर्भवती महिलाओं को पोस्ट नियुक्त आधार उपलब्ध करवाना
आधिकारिक वेबसाइटअभी जारी नहीं की गई है
पोषण सुधा योजना 2022
Poshan sudha yojana

पोषण सुधा योजना 2022 | Poshan Sudha Yojana 2022

पोषण सुधा योजना के अंतर्गत आदिवासी गर्भवती महिलाओं को शुद्ध पोषण युक्त आहार उपलब्ध करवाना है जिससे कि इन महिलाओं तथा बच्चों के शरीर का विकास हो सके। महिला के गर्भवती होने के बाद महिला को सबसे ज्यादा पौष्टिक आहार की जरूरत होती है क्योंकि यह गर्भवती महिला तथा उसके बच्चे दोनों की सेहत के लिए बहुत ही जरूरी होता है।

अभी इस योजना को गुजरात राज्य के 110 तालुका वाले 14 जिलों में पायलट तौर पर लागू किया जा रहा है अगर यह योजना इस एरिया में सक्सेस रहती है तो आगे इसे अन्य जिलों में जिनमें आदिवासी बहुलता है वहां लागू किया जाएगा। महिला के गर्भवती होने के बाद उसे पोषण की सबसे ज्यादा जरूरत होती है इसलिए इस योजना के अंतर्गत जो गर्भवती महिलाएं आंगनवाड़ी केंद्र में पंजीकृत हैं उन्हें पोषण युक्त खाना आंगनवाड़ी में मुहैया करवाया जाएगा।

जो महिलाएं आंगनवाड़ी केंद्र में पंजीकृत हैं उन महिलाओं को पोषण युक्त आहार के साथ-साथ आयरन तथा कैल्शियम की गोलियां भी उपलब्ध करवाई जाएंगी। तथा इस पूरे प्रकरण को मोबाइल एप्लीकेशन के द्वारा निगरानी की जाएगी जिससे कि यह सुनिश्चित होगा कि जरूरतमंद महिला को पोषण युक्त आहार और दवाइयां मिल पा रही है या नहीं इस एप्लीकेशन के द्वारा ओटीपी के आधार पर फायदा लेने वाली महिला को रजिस्टर किया जाएगा और ओटीपी बेस्ट फायदा दिया जाएगा जिससे कि मोबाइल एप्लीकेशन में ट्रैक करना आसान रहेगा योजना के उद्देश्य

पोषण सुधा योजना के उद्देश्य

पोषण सुधा योजना के मुख्य उद्देश्य आदिवासी गरीब महिलाओं को पोषण युक्त आहार उपलब्ध करवाना है साथ ही साथ उन्हें कैल्शियम तथा आयरन की गोलियों को उपलब्धता बहुत ही जरूरी है जिससे कि बच्चे तथा गर्भवती महिला का शरीर और सेहत संपूर्ण रूप से स्वस्थ रहें।

इसका उद्देश्य भी है कि आगे चलकर छोटे बच्चे को कोई परेशानी ना आए और उसका स्वास्थ्य संपूर्ण रूप से वृद्धि करता रहे और बच्चे में किसी प्रकार की कोई बीमारी उत्पन्न ना हो तथा बच्चा स्वस्थ रहेगा तो माता और पिता को कोई परेशानी नहीं होगी।

पोषण सुधा योजना के लाभ

  • इस योजना के माध्यम से गर्भवती महिलाओं को पोषण युक्त आहार प्राप्त होगा जिससे कि उनके स्वास्थ्य सही रहेगा इस समय में होने ऐसे आहार की सबसे ज्यादा जरूरत होती है।
  • योजना के माध्यम से आदिवासी गर्भवती महिलाओं को कैल्शियम तथा आयरन की गोलियों की उपलब्धता करवाई जाएगी और यह गोलियां मुफ्त में इनको प्राप्त होंगे।
  • योजना के लाभ को ट्रैक करने के लिए मोबाइल एप्लीकेशन भी बनाई गई है जिससे कि यह सुनिश्चित किया जाएगा कि योजना का लाभ सिधा गर्भवती महिलाओं को पहुंच रहा है या नहीं।
  • जिन महिलाओं को इस योजना का लाभ प्राप्त करना है उन्हें अपने नजदीक आंगनवाड़ी केंद्र में जाकर गर्भावस्था के दौरान अपना पंजीकरण करवाना बहुत जरूरी है इस पंजीकरण के बाद ही उन्हें इस योजना का लाभ प्राप्त होगा।

पोषण सुधा योजना के लिए आवेदन प्रक्रिया

आदिवासी गर्भवती महिलाओं को अपने नजदीक आंगनवाड़ी स्वास्थ्य केंद्र में जाकर वहां से फॉर्म लिखकर और उसे भरकर जमा करवाना होगा जिसके बाद महिलाओं को इस योजना का लाभ प्राप्त होना शुरू हो जाएगा।

इस योजना के लिए अभी कोई आधिकारिक वेबसाइट जारी नहीं की गई है अगर भविष्य में ऐसी कोई वेबसाइट लागू की जाती है तो हम आपको यहां पर उसका लिंक प्रोवाइड कर देंगे।

अन्य पढ़ें:-

FAQ

गुजरात पोषण सुधा योजना क्या है

पोषण सुधा योजना गर्भवती महिलाओं कुपोषण युक्त आहार उपलब्ध करवाना तथा आयरन और कैल्शियम की गोलियां मुफ्त में प्रदान करना है। इस योजना का लाभ लेने के लिए गरीब आदिवासी महिलाएं अपने नजदीक आंगनवाड़ी केंद्र में जाकर गर्भ के दौरान अपना पंजीकरण करवा सकती हैं जिसके बाद इस योजना का लाभ वह प्राप्त कर सकती हैं।

पोषण सुधा योजना किसके द्वारा शुरू की गई

पोषण सुधा योजना गुजरात रात सरकार द्वारा शुरू की गई तथा इस योजना को हमारे प्रिय प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी द्वारा 18 जून 2022 को उनकी माता जी के जन्मदिन के उपलक्ष में शुरू किया गया है।

पोषण सुधा योजना का लाभ कौन-कौन प्राप्त कर सकता है

पोषण सुधा योजना का लाभ गुजरात प्रदेश की आदिवासी गर्भवती महिलाएं आंगनवाड़ी में पंजीकरण करवाकर इस योजना का लाभ प्राप्त कर सकते हैं।

Leave a Comment